Railway Ticket Collector Recruitment भारतीय रेल टिकट कलेक्टर नौकरी

भारतीय रेलवे भारत के सबसे बड़े नियोजकों में से एक है जो विभिन्न शैक्षणिक योग्यताओं और कौशल सेट्स वाले उम्मीदवारों को विभिन्न नौकरी के अवसर प्रदान करता है। भारतीय रेलवे में नौकरी पाने के लिए अधिसूचनाएं नियमित रूप से रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा जारी की जाती हैं।

भारतीय रेलवे में विभिन्न विभागों और उपविभागों में विभिन्न पदों के लिए नौकरी उपलब्ध हैं।

भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर के पद कोनसे होते है?(Rank)



भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर के पद के लिए विभिन्न प्रकार की नौकरियां होती हैं, जो निम्नलिखित हैं:

1) सब उर्फ सबउर्बन टिकट कलेक्टर – इन नौकरियों में आपको सुबह और शाम गाड़ियों में घूमते हुए टिकटों का कलेक्शन करना होता है। यह नौकरी उन लोगों के लिए होती है जो रेलगाड़ियों में काम करने के लिए तैयार हैं।

2) स्टेशन मास्टर्स टिकट कलेक्टर – इन नौकरियों में आपको टिकटों का कलेक्शन करने के साथ-साथ स्टेशन मास्टर के काम का भी ध्यान रखना होता है। आपको स्टेशन की साफ़-सफ़ाई, सुरक्षा और बाकी कार्यक्रमों का भी ध्यान रखना होता है।

4) सेल्स असिस्टेंट टिकट कलेक्टर – इन नौकरियों में आपको टिकटों का कलेक्शन करने के साथ-साथ स्टेशन पर खाद्य, पानी और अन्य सामानों की बिक्री करनी होती है।

भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर की नौकरी के फ़ायदे क्या है?(Profit)


भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर की नौकरी कई फायदे प्रदान करती है। कुछ मुख्य फायदों के बारे में निम्नलिखित हैं:

  1. स्थायित्व: भारतीय रेलवे के टिकट कलेक्टर का पद स्थायी होता है, जो लंबे समय तक नौकरी में बना रहता है।
  2. संबंधों का विकास: टिकट कलेक्टर अपनी नौकरी के दौरान अनेक लोगों से मिलते हैं और नए-नए संबंध बनाते हैं। इससे उन्हें अपने संबंधों का नेटवर्क बढ़ाने का मौका मिलता है।
  3. भत्ते और लाभ: भारतीय रेलवे के टिकट कलेक्टरों को अलग-अलग भत्ते दिए जाते हैं, जो उन्हें उनकी नौकरी से संबंधित अलग-अलग लाभ प्रदान करते हैं।
  4. सामाजिक उपयोगिता: टिकट कलेक्टरों का काम बहुत महत्वपूर्ण होता है क्योंकि उन्हें सभी यात्रियों से अच्छा संबंध बनाए रखना होता है। इससे उन्हें सामाजिक उपयोगिता मिलती है और वे सामाजिक तौर पर भी अपनी प्रतिष्ठा बनाए रख सकते हैं।

भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर की नौकरी के नुकसान क्या है?(Loss)



भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर की नौकरी के नुकसान निम्नलिखित हो सकते हैं:

1) शारीरिक थकान: टिकट कलेक्टरों को अधिकतर दिनों में लम्बी यात्राएं करनी पड़ती हैं जिससे उन्हें शारीरिक थकान महसूस हो सकता है।

2) नियमित शिफ्ट: टिकट कलेक्टरों को नियमित शिफ्ट देना होता है, जिससे उन्हें अनियमित खान-पान और नींद की समस्या हो सकती है।

3)यात्रियों के साथ उत्पीड़न: कुछ यात्रियों के साथ टिकट कलेक्टरों को उत्पीड़न का सामना करना पड़ता है।

4) तनाव: टिकट कलेक्टरों को समय-समय पर तनाव से गुजरना पड़ता है, जो उनकी मानसिक स्थिति पर असर डाल सकता है।

5)जटिल जिम्मेदारियां: टिकट कलेक्टरों को कुछ समय जटिल जिम्मेदारियों का सामना करना पड़ता है जैसे कि टिकट नकली होने की संभावना आदि।

Take the Train – Get Ready to Explore!

टिकट कलेक्टर की नौकरी के लिए शैक्षणिक योग्यताएं क्या होती है?(Education qualification)

भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर की नौकरी के लिए निम्नलिखित शैक्षणिक योग्यताएं आवश्यक होती हैं:

1) उम्मीदवार को कम से कम 12 वीं पास होना आवश्यक होता है।

2) किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12 वीं कक्षा में 50% अंक होने चाहिए।

3) उम्मीदवार को कंप्यूटर अभिज्ञता का ज्ञान होना चाहिए।

4) उम्मीदवार को हिंदी और अंग्रेजी भाषा में अच्छी क्षमता होनी चाहिए

टिकट कलेक्टर की नौकरी के लिए शारीरिक योग्यताएं ?(Physical Qualification)

टिकट कलेक्टर की नौकरी के लिए शारीरिक योग्यताएं निम्नलिखित होती हैं:

  1. उम्मीदवार की ऊंचाई कम से कम 157 सेमी (5 फुट 2 इंच) होनी चाहिए।
  2. उम्मीदवार का वजन संगत होना चाहिए।
  3. उम्मीदवार के लिए आयु सीमा न्यूनतम 18 वर्ष होती है और अधिकतम 30 वर्ष होती है। वर्तमान में, एससी / एसटी उम्मीदवारों को आरक्षण के अनुसार आयु में छूट दी जाती है।
  4. उम्मीदवार को आयु से संबंधित दस्तावेजों को सम्बलित करना होगा।

भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर की नौकरी के लिए आयु सीमा कितनी है?(Age)

भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर की नौकरी के लिए आयु सीमा 18 से 30 साल होती है। हालांकि, इस आयु सीमा में सुविधाजनक रूप से छूटें भी होती हैं जो आवेदक की जाति, जन्मतिथि, जिले आदि पर निर्भर करती हैं। यह सीमा भारतीय रेलवे भर्ती नियमों के अनुसार विभिन्न श्रेणियों के लिए भिन्न हो सकती है, इसलिए आपको भर्ती अधिसूचना को ध्यान से पढ़ना चाहिए।

भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर के वेतन कितना मिलता है?(salary)



भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर के वेतन भर्ती रूल के अनुसार निर्धारित किए जाते हैं। टिकट कलेक्टर के वेतन का स्तर भारतीय रेलवे के नौकरियों में सबसे निम्न होता है। टिकट कलेक्टर की वेतनमान भारतीय रूपया (INR) में होती है और इसमें भत्ते और अन्य भुगतान शामिल होते हैं।

टिकट कलेक्टर की समय-समय पर बढ़ती हुई वेतन स्केल के अनुसार, इस पद पर आधारित वेतन निम्नलिखित है:

आर्म्स्ट्रांग ग्रेड – Rs. 19,900 से Rs. 63,200
जुनियर टिकट कलेक्टर – Rs. 21,700 से Rs. 69,100
टिकट कलेक्टर – Rs. 25,500 से Rs. 81,100
इसके अलावा, टिकट कलेक्टर को भत्ते भी दिए जाते हैं जैसे विभिन्न भत्ते (खाद्य भत्ता, वाणिज्यिक भत्ता, अधिकारी भत्ता आदि) जो वेतन के अतिरिक्त होते हैं।

भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर की सेवानिवृत्ति कब और क्या लाभ मिलते हैं?(Retirement, Pension)



भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर की सेवानिवृत्ति उसकी आयु और सेवानिवृत्ति नियमों के अनुसार होती है। टिकट कलेक्टर की सेवानिवृत्ति की आयु सीमा 60 वर्ष है।

टिकट कलेक्टर की सेवानिवृत्ति के बाद, उन्हें विभिन्न लाभ मिलते हैं। उन्हें एक राशि दी जाती है जो उनकी सेवानिवृत्ति के समय निर्धारित वेतन और उनकी सेवाकाल के आधार पर होती है। इसके अलावा, उन्हें भत्ते के अतिरिक्त लाभ भी मिलते हैं जैसे कि विवाह, संयुक्त निवास, सेवा जीवन बीमा और अन्य सुविधाएं।

टिकट कलेक्टर के सेवानिवृत्ति के बाद, वे उन सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं जो सेवानिवृत्ति के बाद भी उपलब्ध होती हैं, जैसे रेलवे से संबंधित मेडिकल फेसिलिटी, भत्ते और अन्य सुविधाएं।

All Aboard for the Ride of a Lifetime!

भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर के लिए आवेदन कहाँ पर करे?(Railway T.C. Apply . )

भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर के लिए आवेदन भारतीय रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट www.rrcb.gov.in पर ऑनलाइन या फिर भारतीय रेलवे के नियोजन पोर्टल www.indianrailways.gov.in पर भी किये जा सकते हैं।

इसके अलावा, टिकट कलेक्टर की भर्ती के लिए भी अधिसूचनाएं अखबारों, रोजगार समाचार या वेबसाइटों पर उपलब्ध होती हैं। इन अधिसूचनाओं में आवेदन करने के लिए आवश्यक योग्यताएं, आवेदन की तिथि, आवेदन करने की प्रक्रिया, परीक्षा की तिथि और अन्य जानकारी उपलब्ध होती है।

Thanks for visit again

Leave a Comment