Rajasthan Pashu Parichar Syllabus: राजस्थान पशु परिचर भर्ती का नया सिलेबस और एग्जाम पैटर्न जारी

राजस्थान पशु परिचर भर्ती के लिए नया सिलेबस और एग्जाम पैटर्न जारी कर दिया गया है इसके लिए आयोजन राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के द्वारा किया जा रहा है।

राजस्थान पशु परिचर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन 5996 पदों के लिए जारी किया गया है जिसके लिए ऑनलाइन आवेदन वर्तमान में भरे जा रहे हैं इसके लिए कर्मचारी चयन बोर्ड के द्वारा नया सिलेबस और एग्जाम पैटर्न भी जारी कर दिया गया है राजस्थान पशु परिचय भर्ती का नया सिलेबस और एग्जाम पैटर्न काफी सरल है किसी भी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए उसके एग्जाम पैटर्न और सिलेबस को जानना बहुत जरूरी है।

पशु परिचर भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन 19 जनवरी से 17 फरवरी तक भरे जा रहे हैं जिसके लिए सिलेबस के अंदर संपूर्ण जानकारी हमारे द्वारा उपलब्ध करवाई गई है इसके अंदर एक पेपर आयोजित करवाया जाएगा।

राजस्थान पशु परिचर भर्ती का नया एक्जाम पेटर्न

राजस्थान पशु परिचय भर्ती के लिए एक्जाम पेटर्न की बात करें तो इसके अंदर प्रश्न पत्र के दो भाग रखे गए हैं जिसमें प्रथम भाग अ का भाराकं 70% और दूसरे भाग ब में का भाराकं 30% रखा गया है।

भाग अ के अंदर कुल 105% होंगे जो कि कल 105 अंक के होंगे वहीं भाग ब में के अंदर 45% पूछे जाएंगे और 45 नंबर के होंगे टोटल 150 प्रश्नों की संख्या होगी और 150 नंबर दिए जाएंगे इसके अलावा 3 घंटे का समय दिया जाएगा।परीक्षा में सभी प्रश्न बहुविकल्पीय यानी वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे, परीक्षा में कुल 150 प्रश्न होंगे,परीक्षा में प्रत्येक प्रश्न एक अंक का होगा।यह परीक्षा कुल 150 अंकों की होगी, इसमें प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/4 भाग नेगेटिव मार्किंग रखी गई है, इस परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों को 3 घंटे का समय दिया जाएगा, अभ्यर्थियों को न्यूनतम 40% अंक लाना अनिवार्य होगा।परीक्षा का मानक स्तर 10वीं कक्षा का होगा।

राजस्थान पशु परिचर भर्ती का नया सिलेबस

भाग अ के अन्तर्गत कोई 105 पर्सन होंगे इसके लिए 105 नंबर दिए जाएंगे इसके अंदर सिलेबस की बात करें तो माध्यमिक स्तर के लिए सामान्य ज्ञान होगा जिसमें राजस्थान राज्य के विशिष्ट संदर्भ के साथ माध्यमिक स्तर के सामान्य ज्ञान जिसमे दैनिक विज्ञान, गणित, सामाजिक अध्ययन, भूगोल, इतिहास, संस्कृति, कला, समसामयिक विषय आदि समाविष्ट हो, पर वस्तुपूरक प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे।

भाग ब की बात करें तो इसके अंदर कुल 45% पूछे जाएंगे और 45 अंक के होंगे इसके अंदर पशुपालन से संबंधित निम्न बिंदुओं का सामान्य ज्ञान जिसमें प्रदेश में पशुपालन से संबंधित निम्न बिन्दुओं का सामान्य ज्ञान जिसमे प्रदेश में पशुओं की प्रमुख देशी नस्लें, कृत्रिम गर्भाधान, बधियाकरण, संकर प्रजनन, दुग्ध दोहन दुग्ध स्रवण काल, स्वच्छ दूध उत्पादन, पशु एवं कुक्कुट प्रबंधन, जैविक अपशिष्टों का निस्तारणसंतुलित पशु आहार, चारा फसलें, चारा / चारागाह विकास, स्वस्थ एवं बीमार पशुओं की पहचान, पशुओं में अंतः एवं बाह्य परजीवी रोग, पशुओं में टीकाकरण, पशुधन प्रसार, भेड़, बकरियों का स्वास्थ्य कलेण्डर,ऊन, मांस, दूध व अंडों का देश व राज्य में उत्पादन व स्थान, प्रति व्यक्ति दूध/मांस/अंडों की उपलब्धता, प्रति पशु दूध की उत्पादकता, ऊन कतरन, भार ढोने वाले पशु, वर्मी कम्पोस्ट खाद, पशुओं के चमडे एवं हड्डियों का उपयोग,पशुओं की उम्र ज्ञात करना, पॉलीथीन से पशुओं/पर्यावरण को हानि, पशु बीमा, पशु क्रय के समय रखी जाने वाली सावधानियाँ, पशु मेलें, पशुगणना, गौशाला प्रबंधन, साफ सफाई का महत्व, गोबर. मूत्र का उचित निष्पादन,पशुधन उत्पादों का विपणन, डेयरी विकास गतिविधियों तथा पशुपालन विभाग की प्रमुख योजनायें आदि का समावेश हो, पर वस्तुपूरक प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे ।

Leave a Comment