बीएड कि जगह शुरू हुआ आईटीईपी नया कोर्स अब टीचर बनने के लिए आईटीईपी कोर्स जरूरी

नेशनल काउंसलिंग फॉर टीचर एजुकेशन यानी एनसीटीई की और से इंटीग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम शुरू किया गया है यह कोर्स 12वीं के बाद में होगा अब पुराने बेड कोर्स को बंद कर दिया गया है।एनसीटीई की तरफ से नया कोर्स शुरू कर दिया गया है इस कोर्स का नाम इंटीग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम रखा गया है जो की बीएड की जगह शुरू किया गया है यह 4 वर्षीय पाठ्यक्रम होगा जिसमें स्टूडेंट्स 12वीं के बाद में अपना प्रवेश ले सकेंगे इस कोर्स को कंप्लीट करने के बाद में अभ्यर्थी प्राइमरी टीचर बन सकेंगे ऐसे में जो उम्मीदवार प्राइमरी टीचर शिक्षक बनना चाहते हैं वह इस 4 वर्षीय प्रोग्राम को कर सकते हैं।

यह कोर्स नई शिक्षा नीति के तहत शुरू किया जाएगा अब प्राइमरी टीचर बनने के लिए नई शिक्षा नीति के तहत नेशनल काउंसलिंग फॉर टीचर एजुकेशन यानी एनसीटी की ओर से नया प्रोग्राम इंटीग्रेटेड टीचर्स एजुकेशन प्रोग्राम लॉन्च किया गया है इस प्रोग्राम को अगले सेशन से शुरू किया जाएगा।

आईटीईपी कोर्स डिटेल

सबसे पहले हम आपको बता दें कि आईटीआई कोर्स बीएड की जगह शुरू किया गया है जो की 12वीं के बाद में होता था अभी तक पहले अभ्यर्थी ग्रेजुएशन करते थे उसके बाद में 2 वर्षीय बीएड पाठ्यक्रम में दाखिला लेते थे लेकिन अब नए आईटीईपी कोर्स के अनुसार 4 साल का यह कोर्स होगा जिसमें 12वीं के बाद में ले सकेंगे इसके अलावा बीए बीएड और बीएससी बीएड भी मान्य नहीं होगा उसकी जगह ही यह नया कोर्स शुरू किया गया है।प्रवेश इस प्रकार

प्रवेश इस प्रकार से होगा

इस पाठ्यक्रम में प्रवेश लेने के लिए साल में प्रत्येक वर्ष एक बार एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन करवाया जाएगा जिसमें भाग लेने वाले अभ्यर्थियों को उनकी रैंक के अनुसार कॉलेज अलॉट किए जाएंगे और उन्हें प्रवेश दिया जाएगा एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर स्टूडेंट यह आईटीईपी बीएड कोर्स कर सकेंगे।

ITEP Course Check

वर्ष 2030 के बाद यह अनिवार्य किया जाएगा हालांकि इसे अगले सेशन से शुरू कर दिया जाएगा लेकिन वर्ष 2030 के बाद में प्राइमरी टीचर बनने के लिए बेड मान्य नहीं होगा उसकी जगह में आपको आईटीईपी कोर्स करना होगा ।

Leave a Comment